देश

पिछले दिनों रेलवे की तरफ से कोचीन हार्बर टर्मिनस और एर्नाकुलम जंक्शन के बीच देश की सबसे छोटी ट्रेन शुरू की गई थी. अब आप सोच रहे होंगे कि आखिर इस ट्रेन की कितनी लंबाई है और इसमें कितनी बोगी हैं. आमतौर ट्रेनों में दर्जन या दो दर्जन बोगियां होती हैं, लेकिन यह ट्रेन उससे एकदम अलग है. इय ट्रेन में केवल तीन बोगियां दी गई हैं. इसे यदि आप दूर से देखें तो ऐसा लगता है कि पटरी पर केवल इंजन दौड़ रहा है. आम ट्रेनों के मुकाबले रफ्तार काफी कम रेलवे ने इस ट्रेन को डीजल इलेक्ट्रिकल मल्टीपल यूनिट (DEMU) नाम दिया है. और यह केरल में चलती है. देश की सबसे छोटी ट्रेन रोजाना सुबह और शाम कोची हार्बर टर्मिनस (CHT) और एर्नाकुलम जंक्शन के बीच चलती है. इस ट्रेन का रूट भी छोटा है और रफ्तार भी आम ट्रेनों के मुकाबले काफी कम है. 40 मिनट में 9 किमी का सफर डेमू ट्रेन केवल 9 किलोमीटर का सफर तय करती है. इस सफर को तय करने में इस ट्रेन को 40 मिनट का समय लगता है. इस रास्ते में इसका एक स्टॉप है. यूं तो ट्रेन में 300 यात्रियों के बैठने की क्षमता दी गई है. लेकिन इसमें आमतौर पर 10-12 यात्री ही सफर करते दिखाई देते हैं. demu, demu train, India shortest train, shortest train, offbeat एक सप्ताह पहले ही पटरी पर उतारी गई इस ट्रेन की कम कमाई और यात्रियों की संख्या को देखते हुए इसका परिचालन बंद करने का फैसला किया गया है. इंडियन एक्सप्रेस में प्रकाशित खबर के अनुसार तिरुवनंतपुरम के डीआरएम एसके सिन्हा ने बताया यह सीएचटी और एर्नाकुलम के बीच ट्रायल रन था. हम इस सेवा को रद्द करने की योजना बना रहे हैं.

नई दिल्ली : चीन में एक अक्टूबर को नेशनल डे मनाया गया. सारे देश में नेशनल डे को मानने के लिए तैयारियां की गई. नेशनल डे को मनाने की कड़ी में चीन में हजारों की संख्या में लोग ग्रेट वॉल ऑफ चाइना के पास पहुंचे.

इंटरनेशनल मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, 1 अक्टूबर को नेशनल डे मनाने के लिए लगभग 37 हजार पर्यटक और स्थानीय लोग ग्रेट वॉल ऑफ चाइना पर पहुंचे. लोगों की भीड़ से पूरा ग्रेट वॉल ऑफ चाइना जाम हो गया. दीवार की हालात ऐसी थी कि लोगों खिसक भी नहीं पा रहे थे.