बॉलीवुड

भजन गायक विनोद अग्रवाल की हालत नाजुक, अस्पताल में वेंटिलेटर पर रखा गया

मथुरा: मशहूर भजन गायक विनोद अग्रवाल (56) के सीने में दर्द की शिकायत होने के बाद उन्हें बीती शाम रविवार को नयति मेडीसिटी अस्पताल में भर्ती कराया गया है जहां उनकी हालत नाजुक बनी हुई है. उनके परिवार के सदस्य भी मुंबई से मथुरा पहुंच गए हैं.

नयति मेडिसिटी की डायरेक्टर शिवानी शर्मा ने बताया, ‘‘फिलहाल उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया है. उनके अंग पूरी तरह से काम नहीं कर पा रहे हैं. हालत बेहद नाजुक है.’’

भजन गायक विनोद अग्रवाल ने यहां वृन्दावन के पुष्पांजलि बैकुंठ अपार्टमेंट में अपना आवास बना रखा है. रविवार की सुबह सीने में दर्द की शिकायत पर उन्हें नयति अस्पताल में भर्ती कराया गया था.

विनोद अग्रवाल का जन्म 6 जून 1955 को दिल्ली में हुआ था. वे 1962 में मुंबई शिफ्ट हो गए थे. उनके माता-पिता की भगवान कृष्ण में अगाध श्रद्धा थी. 22 साल की उम्र विनोद ने हारमोनियम बजाना सीख लिया था और भजन गाने लगे थे. भजन गायक विनोद अग्रवाल ने 1978 में भजन गाना शुरू किया था. जो कि अब तक बदस्तूर जारी है.

कपड़ों का बिजनेस
20 साल की उम्र में विनोद अग्रवाल की शादी कुसुमलता अग्रवाल से हो गई थी. उनके दो बच्चे जतिन ओर शिखा हैं, जिनकी शादी हो चुकी है. उनका बेटा जतिन मुंबई में कपड़ों का कारोबार देखता है.

बिजनेसमैन से भजन गायक तक का सफर
एक इंटरव्यू में विनोद अग्रवाल ने बताया कि वे कपड़ों के व्यापारी थे. ईश्वर के प्रति आस्था उन्हें मुंबई से वृंदावन खींच लाई. उन्होंने कहा कि मेरी इच्छा भी थी कि जिंदगी का एक चौथाई हिस्सा वृंदावन में गुजरे और प्राण भी वहीं पर जाएं. इन दिनों वे पत्नी कुसुमलता के साथ कृष्ण की नगरी में ही रहते हैं.