देश

रेलवे भर्ती परीक्षा में सॉल्वर गैंग का पर्दाफाश, नोएडा से 7 लोगों को किया गिरफ्तार

नोएडा: यूपी एसटीएफ ने शुक्रवार (02 अक्टूबर) को नोएडा में रेलवे भर्ती बोर्ड ग्रुप डी की ऑनलाइन प्रतियोगी परीक्षाओं में मूल अभ्यर्थियों के स्थान पर सॉल्वर बैठाने वाले गिरोह का पर्दाफाश किया है. एसटीएफ की नोएडा इकाई ने सेक्टर-62 स्थित परीक्षा केंद्र से गिरोह के सात लोगों को गिरफ्तार किया है. जानकारी के मुताबिक, गिरफ्तार किए गए आरोपियों में गिरोह का सरगना भी शामिल है. सरगना अब तक चंडीगढ़, नोएडा, हरियाणा, पंजाब में हुई ऑनलाइन परीक्षा में 200 से अधिक मूल अभ्यर्थियों से करोड़ों रुपये लेकर उनके स्थान पर भाड़े के सॉल्वर बैठा चुका है.

UP STF arrested 7 people of solver gang in Railway Recruitment Examination

पुलिस ने बताया कि सेक्टर-62 स्थित परीक्षा केंद्र पर रेलवे भर्ती बोर्ड ग्रुप-डी की ऑनलाइन प्रतियोगी परीक्षा चल रही है. पुलिस को जानकारी मिली थी कि केंद्र पर परीक्षा में धांधली करने के लिए गिरोह के कुछ सक्रिय सदस्य आ रहे हैं. लिहाजा एसटीएफ की टीम ने 11:30 बजे घेराबंदी कर केंद्र से सात लोगों को गिरफ्तार कर लिया. गिरफ्तार किए गए आरोपियों की पहचान संजीत दहिया, नवीन कुमार, विक्रांत, सुमित, सन्नी, गजेंद्र और सुबोध के तौर पर हुई है.

इस गैंग में शामिल गिरफ्तार सुमित, छपरौली बागपत रेलवे ट्रैकमैन के पद पर कार्यरत है. जबकि, नालंदा बिहार के सुबोध, गजेंद्र और सन्नी साल्वर है. ये साल्वर अब तक चंडीगढ़, पटियाला, सोनीपत और नोएडा आदि के परीक्षा केंद्रों पर कई बार बैठ चुके है. संजीत दहिया गिरोह का सरगना है.

पुलिस ने जानकारी देते हुए बताया कि इनके पास से तीन कार, 4,51,500 रुपये कैश,  85 कैंडिडेट्स के आधार कार्ड, 8 मोबाइल फोन, चेक बुक्स, एटीएम कार्ड्स मिले हैं. आरोपियों के बारे में पुलिस ने जानकारी दी कि विक्रांत और सुमित बागपत से हैं. दहिया और नवीन हरियाणा के सोनीपत के रहने वाले हैं. वहीं सन्नी, गजेंद्र और सुबोध बिहार के रहने वाले हैं. इनमें से तीन सॉल्वर हैं, जो परीक्षा देने के लिए आए थे.