देश

शेयर बाजार में गिरावट का रुख, सेंसेक्स 34 हजार के नीचे

मुंबई : दिवाली से पहले देश के प्रमुख शेयर बाजार में उठा-पटक का रुखा देखा गया. आरबीआई और केंद्र सरकार के बीच तनाव बढ़ने व विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (एफपीआई) की जारी बिकवाली के कारण बुधवार को शुरुआती कारोबार में सेंसेक्स 200 अंक से अधिक गिर गया. बंबई शेयर बाजार का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स मजबूती में खुलने के तुरंत बाद गिर गया. सेंसेक्स 163.74 अंक यानी 0.48 प्रतिशत गिरकर 33,727.39 अंक पर रहा. एक समय यह 237.65 अंक गिर गया था. कारोबारी सत्र के दौरान करीब 11.30 बजे सेंसेक्स 86.06 अंक गिरकर 33,805.07 के स्तर पर कारोबार कर रहा था. लगभग इसी समय 50 शेयर वाला निफ्टी 16.55 अंक गिरकर 10,181.85 के स्तर पर चल रहा था.

ऊर्जित पटेल के इस्तीफा देने की अफवाहें
मंगलवार को सेंसेक्स 176.27 अंक यानी 0.52 प्रतिशत कमजोर होकर 33,891.13 अंक पर रहा. नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 62.55 अंक यानी 0.61 प्रतिशत गिरकर 10,135.85 अंक पर रहा. सरकार द्वारा रिजर्व बैंक अधिनियम की धारा 7 का इस्तेमाल करने पर गवर्नर ऊर्जित पटेल के इस्तीफा देने की अफवाहें हैं. सरकार इस धारा का इस्तेमाल गवर्नर को उन मुद्दों पर परामर्श व निर्देश देने के लिये करती है जिनके बारे में सरकार को लगता है कि ये मुद्दे गंभीर हैं और सार्वजनिक हित में हैं.

बैंकों के शेयर में गिरावट
टाटा स्टील, कोल इंडिया, भारती एयरटेल, पावरग्रिड, एनटीपीसी, इंडसइंड बैंक, अडाणी पोर्ट्स, आईटीसी, विप्रो और वेदांता के शेयर 4 प्रतिशत तक गिर गये. हालांकि इंफोसिस, एचडीएफसी बैंक, यस बैंक, हीरो मोटोकॉर्प, सन फार्मा और ओएनजीसी के शेयर दो प्रतिशत तक चढ़ गये. कारोबारियों ने कहा कि ऊर्जित पटेल के इस्तीफे की खबरें उड़ने से बाजार पर दबाव रहा. प्राथमिक आंकड़ों के अनुसार, मंगलवार को एफपीआई 1,592.02 करोड़ रुपये के शुद्ध बिकवाल रहे.

हालांकि घरेलू संस्थागत निवेशकों ने 1,363.04 करोड़ रुपये की शुद्ध लिवाली की. वैश्विक बाजारों में एशियाई बाजारों शुरुआती कारोबार में जापान का निक्की 1.7 प्रतिशत, चीन का शंघाई कंपोजिट 1.13 प्रतिशत, हांग कांग का हैंग सेंग 0.60 प्रतिशत और ताईवान का शेयर बाजार 1.80 प्रतिशत की तेजी में रहा. अमेरिका का डाउ जोन्स इंडस्ट्रियल एवरेज मंगलवार को 1.77 प्रतिशत उछलकर बंद हुआ था.