चुनाव प्रदेश

संजय सिन्हा की कहानीः बड़ा होना

नरेश ग्रोवर भैया अपने दोस्त के साथ एक उद्योगपति से मिलने गए थे. मैं जानता हूं कि आप तुरंत पूछ बैठेंगे कि नरेश ग्रोवर भैया कौन? देखिए, आप अपने परिजन हैं और आपको हक है मुझसे कुछ भी पूछने का, और मुझे अच्छा लगता है आपको कुछ भी बताना. नरेश ग्रोवर भैया अपने जबलपुर में रहते हैं, सत्य अशोक होटल के मालिक हैं और आप सबके प्रिय कमल ग्रोवर भैया के बड़े भाई हैं. मैं जब भी जबलपुर आता हूं, नरेश ग्रोवर भैया से ज़रूर मिलता हूं. उनके साथ बैठने का मतलब है ज़िंदगी की कहानियों से रुबरू होना. देखिए संजय सिन्हा की कहानी.