बिज़नेस

टिकटों की ज्‍यादा कीमत वसूलने को लेकर रेलवे, IRCTC के खिलाफ जांच के आदेश

गुजरात के अहमदाबाद के मीत शाह और राजकोट के आनंद रणपाड़ा ने रेलवे तथा भारतीय रेलवे खानपान एवं पर्यटन निगम लि. (आईआरसीटीसी) के खिलाफ शिकायत की है, जिस पर आयोग ने जांच का आदेश दिया है.

नई दिल्ली : भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग (सीसीआई) ने ई-टिकट की अधिक कीमत वसूलने के मामले में भारतीय रेल तथा उसकी इकाई आईआरसीटीसी के खिलाफ जांच का आदेश दिया है. गुजरात के अहमदाबाद के मीत शाह और राजकोट के आनंद रणपाड़ा ने रेलवे तथा भारतीय रेलवे खानपान एवं पर्यटन निगम लि. (आईआरसीटीसी) के खिलाफ शिकायत की है, जिस पर आयोग ने जांच का आदेश दिया है.

दोनों ने यह आरोप लगाया कि रेलवे तथा आईआरसीटीसी दोनों ही वास्तविक आधार किराया पर पहुंचने के लिये किराये को 5 के गुणक में निकटतम ऊपरी अंक में तय करते हैं. इससे खासकर आनलाइन बुकिंग में रेल टिकट बिक्री के लिये बाजार में अनुचित शर्तें थोपी जाती हैं.

ये भी पढ़ें- रेल यात्री ध्यान दें! इस तारीख को 2 घंटे के लिए बंद रहेगी रिजर्वेशन सर्विस, पूछताछ सेवा भी बंद रहेगी

रेल यात्री ध्यान दें! इस तारीख को 2 घंटे के लिए बंद रहेगी रिजर्वेशन सर्विस, पूछताछ सेवा भी बंद रहेगी

प्रतिस्पर्धा आयोग ने कहा, ‘‘इस समय ऐसा लगता है कि प्रतिवादी (रेल मंत्रालय और आईआरसीटी) बिना यथोचित कारण के आनलाइन बुकिंग में वास्तविक किराये को ‘राउंड आफ’ करते हैं.

शिकायत के अनुसार ग्राहक पूरी तरह रेल मंत्रालय और आईआरसीटीसी पर निर्भर है तथा उसके बाद उसके द्वारा दी जाने वाली सेवाओं का कोई विकल्प नहीं है.

हालांकि, दोनों इकाइयों ने कहा कि टिकट के मामले में खुदरा राशि लेने और देने से लेन-देन में लगने वाला समय बढ़ेगा. ऐसे में लेन-देन में लगने वाले समय में कमी लाने तथा यात्रियों को तीव्र सेवा देने के लिये किराये को ‘राउंड आफ’ करने का फैसला किया गया है.