हेल्थ

अच्‍छी नींद के लिए छोड़ना पड़ेगा टीवी सीरियल का शौक, डॉक्‍टर से जानिए टीवी देखने का तरीका

नई दिल्‍ली: इंद्रप्रस्‍थ अपोलो के डॉ. तरुण कुमार साहनी के अनुसार, नींद न आने की समस्‍या नींद के पीछे स्‍लीप एपनिया सिंड्रोम जैसे कुछ मेडिकल रीजन भी हैं, लेकिन ज्‍यादातर लोग अपनी असंयमित दिनचर्या और कुछ आदतों के चलते इस समस्‍या से जूझ रहे हैं.  असंयमित दिनचर्या और बिगड़ी हुई आदतों के चलते यह समस्‍या न केवल ज्‍यादातर घरों तक पहुंच गई है, बल्कि घर के हर सदस्‍य को अपना शिकार बनाना शुरू कर दिया है.

आलम यह है कि लोगों के लापरवाह नजरिया के चलते नींद न आने की समस्‍या को एक सामान्‍य बात की तरह देखा जाता है. धीरे-धीरे, यही समस्‍या चिड़चिडाहट, ब्‍लडप्रेशर और हाइपरटेंशन जैसी बीमारियों का रूप ले लेती है. जिसके बाद, ज्‍यादातर लोग का हॉस्पिटल में चक्‍कर लगाना शुरू हो जाता है. ज्‍यादातर लोग यह मानने लगते हैं कि नींद न आने की वजह ब्‍लडप्रेशन सहित दूसरी बीमारियां हैं. नतीजतन, दवाओं से अपनी इन बीमारियों के नियंत्रित की कोशिश की जाती है.

डॉ. तरुण कुमार साहनी के अनुसार, समस्‍या यह है कि कोई भी शख्‍स यह समझने की कोशिश नहीं करता हैं कि उनकी इस समस्‍या की मूल वजह क्‍या है? उन्‍होंने बताया कि नींद न आने के पीछे जिम्‍मेदार कई कारणों में एक कारण लोगों की लगातार टीवी देखने की आदत है. यही आदत उनकी नींद को लगातार उनसे दूर करती जा रही है. टीवी देखने की आदत की वजह से नींद न आने की समस्‍या को मेडिकल साइंस में प्रमाणित भी किया जा चुका है.

किस तरह टीवी देखने की आदत आपनी नींद को करती है प्रभावित: 

किस तरह टीवी देखने की आदत आपनी नींद को करती है प्रभावित:
डॉ तरुण कुमार साहनी के अनुसार,

  • अच्‍छी नींद के लिए सबसे जरूरी है कि आपका दिमाग पूरी तरह से शांत हो.
  • जैसे-जैसे दिमाग की हलचल शांत होती है, लोग नींद की तरफ जाना शुरू कर देते हैं.
  • ज्‍यादातर लोग सोने से पहले टीवी देखना पसंद करते हैं.
  • टीवी पर देखे जाने वाले शो सामाजिक मुद्दों या क्रिमिनल इश्‍यूज पर आधारित होते हैं.
  • इश्‍यूज पर आधारित सीरियल देखते-देखते आप उसके बारे में सोचना शुरू कर देते हैं.
  • नतीजतन, दीमाग शांत होने की जगह तेजी से भागना शुरू कर देता है.
  • दिमाग में पैदा हुई यही हलचल आपकी नींद को आपसे दूर ले जाने लगती है.
  • नींद न आने पर लोग मोबाइल को स्‍क्रोल करना शुरू कर देता है.
  • नतीजतन, नींद आपके करीब आने की जगह, आपसे कोसों दूर चली जाती है.

अच्‍छी नींद के लिए इन बातों का रखे ध्‍यान
डॉ. तरुण कुमार साहनी के अनुसार, यदि आप अच्‍छी नींद लेना चाहते हैं तो

  • आपको सोने से आधे घंटे पहले अपना टीवी बंद कर देना चाहिए.
  • शाम को ऐसे टीवी शो सीरियल देखने से बचना चाहिए जो मानसिक तौर पर अशांत करें.
  • बेडरूम में लाइट बंद कर अंधेरे में टीवी देखने से पूरी तरह से बचें.
  • टीवी देखते समय कमरे में पर्याप्‍त उजाला होना चाहिए.
  • इस दौरान घर में कोई ऐसा संवाद नहीं होना चाहिए, जिससे दिमाग की हलचल बढ़ जाए.
  • सोने से आधे घंटे पहले बेड रूम की ब्राइट लाइट को बेहद धीमी लाइट में तब्‍दील कर दें.
  • अपना ध्‍यान ऐसी चीजों पर लगाए, जो आपके मन और मस्तिक को सुकून दे.
  • इन प्रयासों में योग करना, संगीत सुनना, पनपसंद साहित्‍य पढ़ना आदि शामिल हो सकता है.
  • रात्रि का खाना खाने के तुरंत बाद न  ही बेड पर लेटें और न ही कुर्सी पर बैठें.
  • इस समय का इस्‍तेमाल योग या सैर के लिए करें.