हेल्थ

हैंड वॉश और टूथपेस्ट से भी होता है कैंसर! आपके लिए जानना है जरूरी

वॉशिंगटन: हैंड वॉश और टूथपेस्ट में पाए जाने वाले जीवाणुरोधी संघटक ट्राइक्लोजन से गट बैक्टीरिया (अंतड़ियों में पाए जाने वाले सूक्ष्मजीव) बदल सकते हैं जिनसे मलाशय के कैंसर का खतरा बढ़ सकता है. ‘साइंस ट्रांसलेशनल मेडिसिन’ पत्रिका में प्रकाशित अध्ययन में कहा गया कि चूहों पर किए गए प्रयोग में उनमें ट्राइक्लोजन से मलाशय में जलन हुई और उससे जुड़े कैंसर की रफ्तार बढ़ गई.

अमेरिका के यूनिवर्सिटी ऑफ मेसाचुसेट्स अम्हर्स्ट के गुओदांग झांग ने कहा, ‘‘इन नतीजों से पहली बार पता चला कि ट्राइक्लोजन से हमारी अंतड़ियों के स्वास्थ्य पर प्रतिकूल असर पड़ सकता है. शोधकर्ताओं ने कहा कि जीवाणुरोधी संघटक के रूप में ट्राइक्लोजन का व्यापक इस्तेमाल हो रहा है और यह 2,000 से ज्यादा उपभोक्ता उत्पादों में पाया जाता है.

 चाय पीने से कम होता है कैंसर का खतरा
अमेरिका के एक विश्वविद्यालय में किए गए शोध के अनुसार चाय खासकर काली और हरी चाय पीने से कैंसर का खतरा कम हो जाता है क्योंकि इनमें ‘एंटी-आक्सीडेंट’ तत्व मौजूद होते हैं. विस्कोनसिन विश्वविद्यालय से जुड़े शोधकर्ता हसन मुख्तार ने कहा था कि दुनिया भर में चाय एक लोकप्रिय पेय है और इसमें स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद तत्व होने का पता लगा गया था. इंडियन टी एसोसिएशन द्वारा शुक्रवार को यहां आयोजित एक सेमिनार में मुख्तार ने कहा था कि हरी चाय में कैंसर निवारक प्रभाव होने का पता लगा है.

उन्होंने कहा था कि चाय पीना न सिर्फ कैंसर बल्कि मधुमेह और हृदय रोगों में भी उपयोगी होता है. मुख्तार ने कहा कि विभिन्न अध्ययनों से संकेत मिलता है कि जो लोग नियमित रूप से चाय पीते हैं, उनमें कई प्रकार के कैंसर का खतरा कम हो जाता है. उन्होंने कहा कि इसकी वजह चाय में ‘एंटी-आक्सीडेंट’ तत्व की मौजूदगी है जो मानव शरीर में कैंसर पैदा करने वाली कोशिकाओं को रोकता है .

कैंसर के खतरे को कम करने के आसान टिप्स

  • -सर्वे से यह पता चला है कि कसरत करने से कैंसर से बचा जा सकता है जिसमें ब्रेस्ट कैंसर प्रमुख है .
  • -ज्यादा वजन से कैंसर होने का खतरा बना रहता है . इसलिए वजन को नियंत्रित रखने की कोशिश करनी चाहिए . ज्यादा वजन होने से प्रोस्टेट,पैंक्रियाज, यूट्रेस,ओवरी कैंसर का खतरा रहता है . बुजुर्ग महिलाओं में ज्यादा वजन होने से ब्रेस्ट कैंसर होने का खतरा रहता है .
  • – कुछ कार्यों पर ध्यान रखें कि वह ज्यादा नहीं होने पाए, मसलन बैठना, नीचे झुकना और टीवी देखना .
  • -तंबाकू पदार्थ का इस्तेमाल हर्गिज नहीं करे .
  • -सेहतमंद खाना खाएं और जंक फूड से बचे .
  • -धूप की तीखी किरणों से बचें क्योंकि सूरज की अल्ट्रा-वॉयलेट (UV) किरणों से त्वचा कैंसर का खतरा बढ़ जाता है .
  • -ज्यादा शराब पीने से मुंह और गले का कैंसर होने का खतरा रहता है .
  • -त्वचा में किसी भी तरह के बदलाव होने पर तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें . यह कैंसर का भी लक्षण हो सकता है .