हेल्थ

नारियल तेल पर भिड़े हार्वर्ड के प्रोफेसर, एक ने बताया जहर, दूसरे ने गिनाए फायदे

नई दिल्ली: हार्वर्ड की एक प्रोफेसर ने दावा किया है कि खाद्य तेल के रूप में नारियल का इस्तेमाल हमारे लिए बहुत घातक है. उन्होंने नारियल तेल को ‘खालिस जहर’ बताया. इस बारे में उनका एक वीडियो इस समय यू ट्यूब पर वायरल हो गया है. हालांकि हार्वर्ड में ही सभी उनकी इस बात से सहमत नहीं हैं.

गौरतलब है कि भारत में नारियल तेल का बड़े पैमाने पर इस्तेमाल किया जाता है. खासतौर से केरल सहित दक्षिण भारत में खाने के लिए नारियल तेल का ही इस्तेमाल होता है. ऐसे में इसे खालिस जहर बताने का दावा भारत के लोगों के गले नहीं उतर रहा है और सोशल मीडिया पर कई लोग हार्वर्ड प्रोफेसर की राय पर सवाल उठा रहे हैं.

समाचार पत्र यूएस टूडे के मुताबिक पश्चिमी देशों में भी पिछले कुछ वर्षों के दौरान नारियल तेल तेजी से लोकप्रिय हुआ है और इसे प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने वाला तथा वजन घटाने में मददागर माना गया है. हालांकि अब हार्वर्ड प्रोफेसर ने उल्टी बात कही है. साइंस एलर्ट की रिपोर्ट के मुताबिक हार्वर्ड फैकेल्टी मैंबर कैरिन मिशेल ने जर्मनी में एक वीडियो टॉक के दौरान कहा, ‘मैं आपको केवल नारियल तेल के बारे में अविलंब चेतावनी दे सकती हूं. ये एक सबसे खतरनाक फूड है, जो हम खाते हैं.’

उन्होंने आगे कहा, ‘नारियल का तेल एक खालिस जहर है.’ उन्होंने एक बार फिर अपनी बात को दोहराते हुए कहा कि ये एक ‘खालिस जहर’ है. उन्होंने कहा कि नारियल तेल में सेचुरेटेड फैट की मात्रा बहुत अधिक होती है और इसे खाने से हाई कोलेस्ट्रॉल और दिल की बीमारियां बढ़ती हैं. अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन के आंकड़ों के मुताबिक नारियल तेल के फैट में 80 प्रतिशत सेचुरेटेड फैट होता है, जबकि मक्खन में 63 प्रतिशत, बीफ में 50 प्रतिशत और पोर्क में 39 प्रतिशत होता है.

घी है सबसे बेहतर
दूसरी ओर हार्वर्ड हेल्थ लेटर में हार्वर्ड स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ के डॉक्टर वाल्टर सी विलेट ने लिखा है कि नारियल तेल में सिर्फ बुराई ही नहीं है. इसके कई फायदे भी हैं. उन्होंने कहा, ‘नारियल तेल के बारे में बढ़िया बात ये है कि ये लाभदायक एचडीएल कोलेस्ट्राल को बढ़ावा देता है. चाहें जैसा भी फैट हो वो एचडीएल लेबल को बढ़ाता है, लेकिन नारियल तेल में ऐसा करने की विशेष क्षमता होती है.’

उन्होंने मुताबिक नारियल तेल का इस्तेमाल करने में कोई बुराई नहीं है. उन्होंने कहा, ‘मैं किफायत के साथ नारियल तेल का इस्तेमाल करता हूं.’ हालांकि उन्होंने कहा कि नारियल तेल के अपने नुकसान भी हैं और जब वो कहते हैं कि कोई चीज उतनी बुरी नहीं है, तो इसका ये मतलब नहीं कि वो अच्छी है. उन्होंने भारतीय घी को खाने के लिए सबसे बेहतर बताया.

उन्होंने लॉस एंजेल्स टाइम्स में एक लेख में लिखा था, ‘मक्खन के मुकाबले घी लैक्टोस (दुग्ध-शर्करा) फ्री है और इसमें बहुत कम कोलेस्ट्रॉल है. इसमें विटामिन ए, डी, ई और के भरपूर मात्रा में हैं. इसमें आश्चर्यजनक ढंग से बेहतरीन एंटीऑक्सीडेंटगुण होते हैं, और ये हमारी प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है.’