प्रदेश

टेरर फंडिंग केस : NIA ने हिजबुल मुजाहिद्दीन के सरगना सलाहुद्दीन के बेटे को किया गिरफ्तार

श्रीनगर/नई दिल्‍ली : जम्‍मू-कश्‍मीर में आतंकियों और अलगाववादियों को हुई विदेशी फंडिंग की जांच कर रही राष्‍ट्रीय जांच एजेंसी (एनआइए) ने बड़ी कार्रवाई की है. एजेंसी ने गुरुवार सुबह आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिद्दीन के सरगना सैयद सलाहुद्दीन के दूसरे बेटे सैयद शकील अहमद को श्रीनगर के रामबाग इलाके में स्थित उसके घर से गिरफ्तार किया गया है. शकील अहमद सलाहुद्दीन का दूसरा बेटा है जिसे इस मामले में गिरफ्तार किया गया है.

इससे पहले जांच एजेंसी ने पिछले साल सलाहुद्दीन के पहले बेटे सैयद शाहिद को मनी लांड्रिंग केस में गिरफ्तार किया था. वह इस समय दिल्‍ली की तिहाड़ जेल में बंद है. गुरुवार को पकड़ा गया सलाहुद्दीन का दूसरा बेटा सैयद शकील अहमद SKIMS अस्‍पताल में पिछले 30 साल से लैब तकनीशियन के पद पर कार्यरत है.

बताया जा रहा है कि जांच एजेंसी ने 2011 के टेरर फंडिंग केस में सैयद शकील अहमद को कम से कम तीन बार पूछताछ के लिए बुलाया था, लेकिन वह एजेंसी के सामने पेश नहीं हुआ था. जांच एजेंसी ने उसे कई मौके दिए लेकिन उसने हमेशा इन्‍हें नकारा. उससे यह भी पूछा गया था कि वह अपने बैंक अकाउंट में हुई विदेशी फंडिंग के बारे में विस्‍तृत जानकारी दे.

बता दें कि पिछले साल जांच के दौरान कश्मीर में सक्रिय आतंकवादी और अलगाववादी गुटों को मिल रही वित्तीय मदद का पाकिस्तान से ईमेल के जरिये भेजा जा रहा ब्यौरा एनआईए के हाथ लगा था. पकड़े गये ईमेल संदेशों से साफ है कि कश्मीर में पाकिस्तान द्वारा हवाला के जरिये आतंकवादी संगठन हिजबुल मुजाहिद्दीन को वित्तीय मदद मिल रही है. इसमें पता चला था कि हवाला से कश्मीर में भेजे जाने वाली वित्तीय मदद कहां और किस मद में खर्च की जानी है, इसका भी पूरा हिसाब रखा जाता है.