देश

राहुल की ‘झप्पी’ पर भड़कीं लोकसभा स्पीकर, बोलीं- यह सदन की गरिमा के खिलाफ है

नई दिल्ली: सदन में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा प्रधानमंत्री को गले लगाए जाने की घटना पर लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन ने स्पष्ट कहा कि जो हुआ वह नहीं होना चाहिए था. लोकसभा स्पीकर ने संसद सदस्यों को पद की गरिमा का पाठ तो पढ़ाया ही साथ ही साथ सदन का डेकोरम खुद मेंटेन करने की सलाह भी दी. लोकसभा स्पीकर ने कहा कि पीएम को सीट पर गले लगना और उसके बाद आंख चमकाना, यह अच्छा नहीं है. उन्होंने कहा कि आप सदन के बाहर मिलिए लेकिन सदन की गरिमा होनी चाहिए. उन्होंने कहा कि राहुल जी मेरे दुश्मन नहीं बेटे जैसे हैं लेकिन मां के नाते उन्हें सिखाना भी मेरा काम है. मेरी समझ नहीं आया इसलिए इस नाटक को देखकर मैं तब चुप रही. भावनाओं का आदर करना चाहिए.

लोकसभा स्पीकर ने दी सख्त सलाह
लोकसभा स्पीकर ने राहुल के पीएम मोदी को गले मिलने पर कहा कि यह सदन की गरिमा के खिलाफ है और मुझे यह अच्छा नहीं लगा. उन्होंने कहा कि वो प्रधानमंत्री के तौर पर यहां बैठे थे और पद की गरिमा होती है. साथ ही सांसद को भी इस गरिमा का पालन करना चाहिए. उन्होंने कहा, “एक पद की भी अपनी गरिमा होती है. मुझे पूछो तो चेयर को भी अच्छा नहीं लगा जो भी हुआ. ऐसा होना नहीं चाहिए. सभी लोग इसको ध्यान में रखें. हाउस का एक डेकोरम है. वो प्राइम मिनिस्टर हैं. वो प्राइम मिनिस्टर की सीट पर बैठे हैं. प्राइम मिनिस्टर के सीट पर बैठते हुए एक डेकोरम होता है. और हमारा भी एक डेकोरम होता है. संसद सदस्य के व्यवहार का भी एक डेकोरम होता है. ये बात सभी को ध्यान रखनी चाहिए. जो भी है सभी को पालन करना है मुझे अकेले को नहीं. बैठिए खड्गे जी, आप भी कभी अपने जीवन में ऐसा नहीं करोगे.”

क्या था माजरा
संसद के मॉनसून सत्र के तीसरे दिन लोकसभा में अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ बीजेपी सरकार पर जमकर हंगामा किया. भाषण खत्म करने के बाद वे पीएम मोदी के पास गए, उनसे हाथ मिलाया और उनके गले लग गए. इस दौरान सदन में बैठे बीजेपी के सभी सांसद मुस्‍कुराए और इसे राहुल गांधी की नौटंकी करार दिया.

केंद्रीय गृह राज्यमंत्री ने बताया नाटक
इस बारे में केंद्रीय गृह राज्यमंत्री किरण रिजिजू का कहना है कि ये सब राहुल का नाटक है. इसमें कुछ नहीं था. इसका कोई मतलब नहीं था. उन्होंने राहुल के भाषण पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि उनके भाषण में भी कोई दम नहीं था. उस पर कोई चर्चा करने की बात नहीं है. उन्होंने कहा वो जो भी बोल रहे थे वो बेमतलब था.

किरण खेर ने बताया नौटंकी
बीजेपी नेता किरण खेर ने भी राहुल के मोदी से गले मिलने को नौटंकी बताया. उन्होंने कहा कि राहुल नौटंकी करना बेहद अच्छी तरह जानते हैं. इसलिए मुद्दों को छोड़कर वो मोदी से गले मिलने चले गए.