देश

संघ के न्योते पर खड़गे की राहुल गांधी को सलाह- RSS जहर, चखकर मत देखना

अगले महीने 17 से 19 सितंबर तक संघ के होने वाले कार्यक्रम में राहुल गांधी को भी न्योता भेजने की खबरें हैं. इन खबरों के बीच अब कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने राहुल गांधी से कहा है कि आरएसएस एक जहर है, ये सब जानते हैं. अगर आप जानते हैं कि सामने जहर है तो फिर उसको चखकर देखने की जरूरत नहीं क्योंकि जहर को चखने का नतीजा सब जानते हैं.

खड़गे ने कहा कि आरएसएस अपनी विचारधारा को फैलाना चाहता है, उसमें हम भागीदार क्यों बनें. आखिर ये बांटने वाली और संविधान की जगह मनु स्मृति को मानने वाली विचारधारा है. खड़गे ने कहा कि राहुल गांधी या पार्टी के किसी अन्य नेता के आरएसएस कार्यक्रम में भाग लेने का कोई सवाल ही नहीं उठता है.

आरएसएस अगले महीने ‘भविष्य का भारत’ कार्यक्रम करने जा रहा है. इसमें कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को भी आमंत्रित करने की खबरें हैं. राहुल को आरएसएस के न्यौते पर खड़गे ने कहा कि कांग्रेस राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के साथ एक वैचारिक लड़ाई में लगी हुई है और पार्टी ने भाजपा को सत्ता से दूर रखने के लिए कर्नाटक में मुख्यमंत्री पद भी छोड़ दिया.

खड़गे ने कहा कि कर्नाटक में एक छोटी क्षेत्रीय पार्टी (जनता दल-सेक्युलर) के 37 विधायक हैं और हमारे 80 विधायक हैं. लेकिन हमने धर्मनिरपेक्ष ताकतों को मजबूत करने के लिए उस पार्टी के लिये मुख्यमंत्री पद छोड़ दिया. इसलिए (गांधी या कांग्रेस के किसी अन्य नेता के) आरएसएस मुख्यालय जाने का कोई सवाल ही नहीं उठता.  उन्होंने आरएसएस की विचारधारा को देश के लिए और दलितों और अन्य उत्पीड़ित वर्गों के लिए जहर बताया.