बिज़नेस

चिदंबरम ने पेट्रोल की कीमतों पर सरकार को घेरा, GST के दायरे में लाने की मांग

नई दिल्ली : वरिष्ठ कांग्रेस नेता और पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने पेट्रोल व डीजल की बढ़ती कीमतों के लिए राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) सरकार को जिम्मेदार बताते हुए कहा कि टैक्स ज्यादा होने के कारण ईंधन के दाम बढ़ रहे हैं. चिदंबरम ने मंगलवार को इस बारे में ट्वीटर पर एक के बाद कई बयान जारी किए. उन्होंने कहा कि पेट्रोल एवं डीजल को तुरंत माल एवं सेवा कर (GST) के दायरे में लाया जाना चाहिए.

कीमत ज्यादा टैक्स होने के कारण बढ़ी
उन्होंने कहा, ‘पेट्रोल एवं डीजल की कीमतों में वृद्धि को टाला नहीं जा सकता, ऐसा नहीं है. इनकी कीमतें ज्यादा टैक्स होने के कारण बढ़ी हैं. यदि टैक्स कम कर दिए जाएं तो कीमतें काफी कम हो जाएंगी.’ चिदंबरम ने कहा कि केंद्र सरकार इसके लिए राज्यों को दोष दे रही है पर उसका तर्क भ्रामक है. डीजल-पेट्रोल को जीएसटी के दायरे में लाने के मुद्दे पर उन्होंने कहा, ‘भाजपा 19 राज्यों में सत्ता में होने का दम ठोंकती है.

P. Chidambaram @PChidambaram_IN

Congress demands that petrol and diesel be brought under GST immediately.

P. Chidambaram @PChidambaram_IN
Centre blaming the States is a spurious argument. BJP forgets its boast that BJP is ruling 19 States. Centre and States must act together and bring petrol and diesel under GST.
पेट्रोल-डीजल जीएसटी के दायरे में लाया जाए

केंद्र एवं राज्यों को साथ मिलकर काम करना चाहिए और डीजल-पेट्रोल को जीएसटी के दायरे में लाना चाहिए. कांग्रेस यह मांग करती है कि डीजल-पेट्रोल को जल्दी से जल्दी जीएसटी में लाया जाना चाहिए.’ गौरतलब है कि पेट्रोल और डीजल की कीमत मंगलवार को रिकॉर्ड लेवल पर पहुंच गई. पेट्रोल 79.31 रुपये प्रति लीटर और डीजल 71.34 रुपये लीटर हो गया.