देश

पाकिस्तान ने भारत से सटी सीमा के नजदीक बनाए हेलिपैड और आयुध भंडार : BSF की रिपोर्ट में खुलासा

नई दिल्‍ली : बॉर्डर सिक्‍योरिटी फोर्स (बीएसफ) ने गृह मंत्रालय को भेजी एक रिपोर्ट में कहा है कि पाकिस्तान भारत से सटे अपने सीमावर्ती इलाकों में अपनी रक्षा तैयारियों को मजबूत करने में लगा हुआ है. बीएसएफ की रिपोर्ट के मुताबिक, पाकिस्तान ने बहावलनगर और जैसलमेर से सटे रहीमयार खान में दो नए आयुध भंडार बनाए हैं, जिसके जरिये वो अपने जवानों को बेहद कम समय में ही गोला-बारूद को सीमा पर भेज सकता है.

गृह मंत्रालय के सूत्रों के मुताबिक, पाकिस्तान ने इन आयुध भंडार के कैंपस में ही हेलिपैड भी बनाए हैं, जिससे वो जरुरत पड़ने पर अपने जवानों को हर तरीके की मदद पहुंचा सकता है. रहीमयार खान डिपो भारत-पाक सीमा से महज 37 किलोमीटर की दूरी पर है. साथ ही बहावलपुर में बने आयुध डिपो में पाकिस्तान ने कई बंकर भी बनाए हैं, जिससे वो अपने हथियारों को इंडियन एयरफोर्स के हमले से बचा सकता है और खतरनाक मिसाइल को सीमा के बिलकुल नजदीक छुपा सकता है.

देखा जाए तो तो चीन पिछले कई सालों से पाकिस्तान सेना को आधुनिक बनाने में लगा हुआ है. सीमा पर बने बंकर से लेकर मिसाइल और जंगी जहाजों की सप्लाई पाकिस्तान सेना को चीन से लगातार की जा रही है. पाक चीन ऑप्टिकल फाइबर केबल प्रोजेक्ट के जरिये चीन ने रावलपिंडी से लेकर पीओके तक करीब 800 किलोमीटर तक ऑप्टिकल केबल का नेटवर्क बिछाया है,tags/ जिससे पाकिस्तान सेना की कम्युनिकेशन काफी बेहतर हो चुका है.

ख़ुफ़िया एजेंसियों की एक ऐसी ही रिपोर्ट में दावा किया गया है कि ISI ने भारत और पाकिस्तान सीमा पर लगे थर्मल इमेजिंग डिवाईस को चकमा देने के लिए आतंकियों को एंटी थर्मल जैकेट्स दिए हैं. इन जैकेट्स की सबसे खास बात ये है कि आतंकी इसे पहनकर बड़े आराम से देश की सीमा में दाखिल हो सकते हैं. खुफिया एजेंसियों की इस रिपोर्ट के बाद से सुरक्षा एजंसियां चौकस हो गई हैं.

गृह मंत्रालय को भेजी खुफिया रिपोर्ट में दावा किया गया है कि आईएसआई ने एंटी थर्मल जैकेट्स को पाकिस्तानी सेना के उन खास यूनिट को भी मुहैया कराई है, जो आतंकियों को भारत में घुसपैठ कराने के लिए सीमा पर मौजूद हैं. इस खास तरीके की ड्रेस की जानकारी सबसे पहले उस वक्त मिली जब कुछ महीने पहले पाकिस्तान की तरफ से हो रहे सीजफायर उल्लंघन के दौरान BSF पर पाकिस्तानी रेंजर्स ने बेहद करीब आकर के जम्मू के जम्मूवाल पोस्ट पर फायरिंग की थी, लेकिन पाकिस्तानी रेंजर्स की यह हरकत BSF के नाइट विजन डिवाइस में कैद नहीं हो पाई, लेकिन बाद में वीडियो को ध्यान से देखने के बाद पता चला कि पाकिस्तानी रेंजर्स का एक जवान BSF पर काफी नजदीक से आकर फायरिंग कर रहा था.