राजस्थान

राजस्‍थान : कॉन्स्टेबल परीक्षा के लिए हाईटेक इंतजाम, इंटरनेट समेत इन सेवाओं पर रहेगी रोक

जयपुर: राजस्थान पुलिस महकमे में कॉन्स्टेबल की सबसे बडी भर्ती को लेकर डिपार्टमेंटअलर्ट मोड पर है. राजस्थान पुलिस में कॉन्‍स्‍टेबल के 13 हजार 142 पदों के लिए 14 और 15 जुलाई को होने वाली परीक्षा के लिए प्रशासन की ओर से पिछले कई दिनों से तैयारियां की जा रही थीं और अब पुलिस ने अपनी तैयारियां पूरी कर ली हैं. राजस्थान के 664 केंद्रों पर होने वाली इस परीक्षा को लेकर कोई चूक ना हो इसके लिए बड़े स्तर पर बंदोबस्त किए गए हैं. अभ्यर्थियों के लिए विशेष गाइडलाइन के साथ-साथ परीक्षा केंद्र पर जैमर और इंटरनेट सेवाओं को बंद करने का फैसला लिया गया है.

राजस्थान पुलिस द्वारा जहां एक ओर सुरक्षा को लेकर पुख्ता इंतजाम किए गए हैं तो वहीं दूसरी ओर पुलिस द्वारा परीक्षा में उपस्थित होने वाले अभ्यर्थियों के लिए भी खास गाइडलाइन जारी की गई है. यहां तक कि अभ्यर्थियों को कौन से और किस तरह के कपड़े पहनकर जाना है इसके बारे में भी पुलिस द्वारा जानकारी दी गई है. पुलिस द्वारा जारी की गई गाइडलाइन में यह साफ किया गया है कि परीक्षा में पेश होने वाला कोई भी अभ्यर्थी पूरी बाजू के कपड़े पहनकर परीक्षा सेंटर में नहीं आएगा. हालांकि, अगर कोई ऐसा करेगा तो वहां मौजूद पुलिसकर्मी कैंची से उसकी आस्तीन को काटने के बाद उसे जाने देगा. इसके अलावा परीक्षा केंद्र के भीतर प्रवेश करने से पहले उसके जूते चप्पल उतारे जाएंगे और उसकी उपस्थिति बायोमेट्रिक तरीके से दर्ज की जाएगी.

परीक्षा के लिए पुलिस ने किए सख्त इंतजाम
-पुलिस महकमे की ओर से महिला और पुरूष दोनों के लिए आवेदन पत्र के साथ ड्रेस कोड जारी

-अभ्यर्थी को रंगीन पासपोर्ट आकार की नवीनतम दो फोटो, दो पारदर्शी बॉलपेन, फोटो आइडी लानी होगी

-महिला अभ्यर्थी किसी तरह के जेवर, ईयरिंग, चेन, अंगूठी आदि पहनकर न आएं

-परीक्षा केंद्रों पर मोबाइल फोन और पर्स रखने के लिए कोई व्यवस्था नहीं, नुकसान की जिम्मेदारी अभ्यर्थी की

-परीक्षा केंद्रों पर अधीक्षक, परिवीक्षक, कंपनी के प्रतिनिधि समेत 8 हजार लोगों की ड्यूटी रहेगी

-सभी सुबह 7 से शाम 7 बजे तक परीक्षा केंद्रों पर रहेंगे, केंद्र अधीक्षक के पास मोबाइल फोन रहेगा

-प्रदेश में 664 केंद्र, दोनों दिन दो-दो पारी में होगी परीक्षा, कुल 14 लाख से अधिक परीक्षार्थी

-तीन तरह के बनाए गए परीक्षा केंद्र, जिन पर 500 से 1000 तक परीक्षार्थी दे सकेंगे परीक्षा

-परीक्षार्थियों की तादाद के हिसाब से केंद्रों पर 7 से लेकर 21 पुलिसकर्मी तैनात रहेंगे

-हर 4 केंद्र पर एक फ्लाइंग स्क्वायड, 4 स्क्वायड पर एक डिप्टी की रहेगी निगरानी

-पेपर के बॉक्स की गाडिय़ां हथियारबंद पुलिसकर्मी लेकर जाएंगे

-बायोमैट्रिक मशीन से दर्ज होगी परीक्षार्थियों की उपस्थिति

-30 मिनट पूर्व तक ही परीक्षा केन्द्र में प्रवेश की अनुमति होगी

पहले हुई थी परीक्षा में गड़बड़ी
बता दें, पूर्व में आयोजित परीक्षा में हुई गड़बड़ के बाद इस बार पीएचक्यू स्तर पर परीक्षा आयोजन को लेकर मॉनिटरिंग की जाएगी. परीक्षा केंद्रों पर सुरक्षा इंतजामों की बात की जाए तो आरएएसी दस कंपनियों सहित 10 हजार से ज्यादा पुलिस का जाब्ता तैनात रहेगा. इनका काम सभी परीक्षा केंद्र पर नजर रखना होगा. इसके अलावा एसओजी, एटीएस और आईबी की स्पेशल टीमें भी लगातार काम में जुटी हुई हैं. परीक्षा केंद्रों पर जैमर और सीसीटीवी कैमरे लगाए हैं, जिन्हे अभय कमांड सेंटर से जोड़ा गया है. साथ ही ड्रोन से भी निगरानी रखी जाएगी. पुलिस मुख्यालय ने सभी जिला एसपी को निर्देशित किया है की वो अपने स्तर पर आवश्यकता अनुसार इंटरनेट बंद करने का निर्णय ले सकते हैं. माना जा रहा है की किसी भी तरह की हैकिंग को रोकने के लिए परीक्षा केंद्रों पर सुबह 8 से शाम 5 बजे तक इंटरनेट सेवाएं बंद रखी जाएंगी. परीक्षा में नकल रोकने के लिए सभी इंतजाम कर लिए गए हैं.