देश

जम्मू कश्मीर LIVE: कड़ी सुरक्षा के बीच पंचायत चुनाव के दूसरे चरण के लिए मतदान जारी

दूसरे चरण के चुनावों के लिए प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा 2,179 मतदान केंद्र बनाए गए हैं और सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं.

श्रीनगर: जम्मू-कश्मीर में पंचायत चुनाव के दूसरे चरण के तहत आज सुबह 8 बजे से वोट डाले जाएंगे. दूसरे चरण के चुनावों के लिए प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा 2,179 मतदान केंद्र बनाए गए हैं और सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं.

601 मतदान केंद्र अतिसंवेदनशील
राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी शालीन काबरा ने यह जानकारी दी. काबरा ने कहा कि मतदान सुबह आठ बजे शुरू होगा और अपराह्न दो बजे समाप्त होगा. कश्मीर डिविजन में 828 मतदान केंद्र और जम्मू डिविजन में 1,351 मतदान केंद्र बनाए गए हैं. उन्होंने कहा कि 601 मतदान केंद्रों को ‘अतिसंवेदनशील’ के रूप में वर्गीकृत किया गया है.

पहले चरण में हुई थी बंपर वोटिंग
उन्होंने कहा कि चुनाव के दूसरे चरण में सरपंच की 281 सीटों और पंच की 1,286 सीटों के लिए 4,014 उम्मीदवार मैदान में हैं. 90 सरपंच और 1,069 पंच पहले ही निर्विरोध चुन लिए गए हैं. पहला चरण का चुनाव 17 नवंबर को हुआ था जिसमें 71.4 प्रतिशत मतदान हुआ था.

यह चुनाव प्रशासनिक अधिकारी और स्थानीय पुलिस के लिए किसी चुनौती से कम नहीं है. अलगाववादियों ने चुनाव के बहिष्कार की अपील की है जबकि आतंकवादियों ने चुनाव में हिस्सा लेने वालों को निशाना बनाने की धमकी दी है.

पहले भी हुआ था चुनावों का बहिष्कार
सुचारू रूप से चुनाव कराने के लिए सभी तैयारियां पहले ही कर ली गई थी. यह चुनाव गैर पार्टी आधार पर हो रहे हैं. गौर हो कि नेशनल कॉन्फ्रेंस, पीडीपी और सीपीएम, सुप्रीम कोर्ट में संविधान के अनुच्छेद 35A को चुनौती देने के कारण चुनाव का बहिष्कार कर रहे हैं. इन पार्टियों ने पिछले महीने हुए नगर निकाय चुनाव का भी बहिष्कार किया था.

27 नवंबर को होगी मतगणना
जम्मू क्षेत्र में किश्तवाड़ में मतदान प्रतिशत 74.1, राजौरी में 78.9, पुंछ में 78.7 प्रतिशत, ऊधमपुर में 83.6 प्रतिशत, डोडा में 80.8, कठुआ में 80 प्रतिशत और रामबन में 78.2 प्रतिशत दर्ज किया गया. अधिकारियों ने कहा कि कश्मीर में इन मतदान केंद्रों पर कुल मतदाता 1,35,774 थे. जम्मू कश्मीर में पंचायत चुनाव के और आठ चरण होंगे. पहले चरण का मतदान 47 ब्लाक में हुआ जिसमें से 16 ब्लाक कश्मीर में और 21 ब्लाक जम्मू में तथा 10 लद्दाख क्षेत्र में थे. चुनाव दो वर्ष के विलंब से ऐसे समय हो रहा है जब राज्य में राज्यपाल शासन है. मतगणना 27 नवम्बर को होगी