दुनिया

अमेरिका में रेस्त्रां मालिक ने सरकारी प्रवक्ता से कहा- ट्रंप के साथ काम करती हो, बाहर निकलो

वाशिंगटन : व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव सारा सैंडर्स को ट्रंप प्रशासन में काम करने का हवाला देते हुए वर्जीनिया स्थित एक रेस्त्रां की मालिक ने अपने यहां सेवाएं देने से मना करते हुए उन्हें बाहर चले जाने को कहा. शुक्रवार को एक फेसबुक यूजर ने खुद को वर्जीनिया के द रेड हेन रेस्त्रां का वेटर बताते हुए कहा कि उन्होंने सैंडर्स को सिर्फ ‘दो मिनट की सेवा’ दी और उसके बाद सारा और उनके साथ आए लोगों को बाहर जाने को कह दिया गया.

सैंडर्स ने शनिवार को ट्वीट करके इस घटना की पुष्टि करते हुए कहा, “’शनिवार रात मुझे लेक्सिंग्टन में स्थित रेड हेन रेस्त्रां ने वहां से बाहर निकाल दिया, क्योंकि मैं ट्रंप प्रशासन में काम करती हूं. मैं विन्रमतापूर्वक वहां से निकल गई.”

Sarah Sanders @PressSec

Last night I was told by the owner of Red Hen in Lexington, VA to leave because I work for @POTUS and I politely left. Her actions say far more about her than about me. I always do my best to treat people, including those I disagree with, respectfully and will continue to do so

इस रेस्त्रां की मालिक स्टेफनी विल्किंन्सन ने कहा, “सारा का काम मेरे व्यवहार से ज्यादा कुछ कहता है. मैं हमेशा लोगों के साथ अच्छा व्यवहार करती हूं, यहां तक कि उन लोगों के साथ भी, जिनसे मैं सहमत नहीं रहती हूं. और आदर के साथ ऐसा करना जारी रखूंगी.”

Brennan Gilmore @brennanmgilmore

And btw, the food at @RedHenLex is incredible.

Brennan Gilmore @brennanmgilmore

Also,

स्टेफनी ने वाशिंगटन पोस्ट को बताया कि वह राष्ट्रपति की ‘क्रूर नीतियों’ का बचाव करने वालों को स्वीकार नहीं कर सकती हैं. उन्होंने कहा कि उनके अधिकतर कर्मचारी समलैंगिक हैं और सारा सैंडर्स ने सशस्त्र बलों से किन्नरों को अलग रखने की ट्रंप की इच्छा का बचाव किया था. उन्होंने कहा कि प्रवासी अभिभावकों से उनके बच्चों को अलग कर देने की ट्रंप की नीतियों का प्रवक्ता द्वारा बचाव किये जाने से वह हतप्रभ रह गईं.

उन्होंने कहा कि उनका मानना है कि रेस्त्रां के कुछ मानक हैं, जिनका पालन करना चाहिए जैसे कि इमानदारी, दया और सहयोग. दरअसल अमेरिका में इससे पहले भी हाल ही में आंतरिक सुरक्षा मंत्री क्रिस्टजेन नीलसन को रेस्त्रां में प्रदर्शनकारियों का सामना करना पड़ा था. Input : Bhasha