राजस्थान

राजस्थान चुनाव: क्या किसानों के मुद्दे लगा पाएंगे कांग्रेस की चुनावी नैया पार?

जयपुर: राजस्थान विधानसभा चुनाव में कांग्रेस इस बार किसानों के सहारे अपनी नैया पार करने की कवायद में जुटी है. राजस्थान कांग्रेस किसान और उससे जुड़े मुद्दों को लेकर बेहद सक्रिय है. यही कारण है कि इस बार घोषणा पत्र में कांग्रेस किसानों की कर्जमाफी सहित विभिन्न मुद्दों को शामिल करने जा रही है. किसानों को एकजुट करने की कवायद के तहत राजस्थान विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष रामेश्वर लाल डूडी ने किसान जागरण का आयोजन किया. रामेश्वर लाल डूडी के जयपुर के सिविल लाइंस के सरकारी बंगले पर जुटे प्रदेश के किसानों और डूडी सहित कांग्रेस नेताओं ने विभिन्न नदियों के मंगवाए पानी के साथ एकजुटता का संकल्प लिया. रामेश्वर लाल डूडी ने मंच से अपने संबोधन में कहा कि वर्तमान भाजपा सरकार किसान युवा महिला और दलित विरोधी सरकार है.

डूडी ने कहा कि भाजपा शासनकाल में किसान आत्महत्या कर रहा है. 50 हजार की कर्ज माफी किसानों के साथ छलावा है इसका कोई लाभ उन्हें नहीं मिल रहा. राजस्थान में सरकार गौरव यात्रा निकाल रही है जबकि प्रदेश में किसान आत्महत्या करने पर मजबूर है. ऐसे में सरकार को किस बात पर गौरव हो रहा है. किसान आत्महत्या के मुद्दे पर सरकार को प्रदेश के किसानों से माफी मांगनी चाहिए. युवाओं को रोजगार से वंचित रखा जा रहा है. जबकि महिलाएं और दलित इस शासन में महफूज नहीं है. इस मौके पर प्रदेश के विभिन्न किसान संगठनों की ओर से नेता प्रतिपक्ष रामेश्वर लाल डूडी को हल भेंट किया गया.

रामेश्वर लाल डूडी की ओर से किसान जागरण यात्रा के नाम से एक रथ रवाना किया गया जो प्रदेश के विभिन्न जिलों में जाकर किसानों को जागरुक करने का काम करेगा. कार्यक्रम में कांग्रेस के कई दिग्गज नेता एक मंच पर दिखाई दिए जिनमें कांग्रेस के वरिष्ठ नेता जगन्नाथ पहाड़िया, नारायण सिंह, डॉ चंद्रभान, बी डी कल्ला, अश्क अली टाक, मास्टर भंवरलाल मेघवाल, राजीव अरोड़ा, संजय बाफना, प्रताप सिंह खाचरियावास, जाट महासभा अध्यक्ष राजाराम मील मौजूद रहे. अलग-अलग कार्यक्रमों में व्यस्तता के चलते अशोक गहलोत और सचिन पायलट, अविनाश पांडे जैसे बड़े नेता इस कार्यक्रम से दूर नजर आए.

सत्ता में आते ही पहला समाधान किसानों की समस्याओं का
रामेश्वर लाल डूडी ने कहा कि कांग्रेस 4:30 साल से किसानों के मुद्दों को लेकर संघर्षरत हैं. कांग्रेस सत्ता में आते ही सबसे पहले किसानों की समस्या के समाधान की दिशा में काम करेगी. सरकार के गठन के साथ ही प्रदेश में किसानों के मुद्दों को लेकर विशेष कमेटी बनाई जाएगी. किसानों की पूर्ण कर्ज माफी के सवाल पर रामेश्वर लाल डूडी ने कहा कांग्रेस की प्राथमिकता रहेगी कि किसानों के हित और हकों के साथ पूरा इंसाफ हो.

विधानसभा चुनाव में 180 सीटें जीतने जा रही है कांग्रेस
रामेश्वर लाल डूडी ने कहा इस बार जिस तरह से कांग्रेस को जनता का समर्थन मिल रहा है उससे बिल्कुल साफ है कि प्रदेश की जनता भाजपा के कुशासन से पूरी तरह त्रस्त हो चुकी है और कांग्रेस को सत्ता में लाने का मन बना चुकी है. कांग्रेस के संकल्प रैली के कार्यक्रमों में भारी भीड़ उमड़ रही है. जनता की उत्साह को देखते हुए लग रहा है कि कांग्रेस राजस्थान में इस बार अपनी सबसे अधिक सीटें जीतने जा रही हैं. डूडी ने दावा किया कि इस बार कांग्रेस 180 सीटें जीतकर राजस्थान में सरकार बनाएगी.

किसानों के मुद्दे पर विधानसभा में सरकार को घेरेगी कांग्रेस
रामेश्वर डूडी ने बताया की 5 सितंबर को विधानसभा के मानसून सत्र में कांग्रेस किसानों के मुद्दों को लेकर सरकार को भेजने का काम करेगी. विधानसभा सत्र में कांग्रेस का पूरा फोकस किसान और उससे जुड़े मुद्दों पर रहेगा किसान आत्महत्या कर्जमाफी सहित विभिन्न मुद्दों को कांग्रेस सदन में रखेगी और सरकार से किसानों से जुड़े मसलों को लेकर श्वेत पत्र लाने की मांग करेगी.

किसान का बेटा मुख्यमंत्री बने या ना बने कांग्रेस सत्ता में आए
किसी किसान पुत्र के मुख्यमंत्री नहीं बनने के सवाल पर नेता प्रतिपक्ष रामेश्वर लाल डूडी ने कहा कि राजस्थान कांग्रेस में हमेशा से किसान के बेटे को, जाट नेताओं को सम्मान और उचित प्रतिनिधित्व मिलता रहा है. फ़िलहाल कांग्रेस के लिए सीएम पद पर कौन बैठेगा यह महत्वपूर्ण नहीं है. महत्वपूर्ण यह है कि भारतीय जनता पार्टी की सरकार को एकजुट होकर उखाड़ फेंका जाए और किसान आम आदमी की हितेषी सरकार कांग्रेस को सत्ता में लाया जाए.